अयोध्या में एक साथ डेढ़ लाख दीप जलाए गए

पौराणिक त्रेतायुग में इक्ष्वाकु वंश की राजधानी रही अयोध्या में भगवान श्री रामचंद्र की जन्मभूमि पर अधिकार को लेकर करीब पांच शताब्दियों के कड़े संघर्ष के बाद आज शांतिपूर्ण ढंग से नये भव्य मंदिर का निर्माण औपचारिक रूप से आरंभ हो गया। टेलीविजन के कैमरे के माध्यम से साक्षी बने देश-विदेश के करोड़ों लोगों की भावनाओं के ज्वार के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंदिर की नींव में चांदी की आधारशिला रखी।

वहीं शाम को पूरे हिंदुस्तान में विभिन्न राज्यों में दीपमाला की गई। लोगों ने अपने घरों की छतों, आंगन में दीपक जलाए। उधर, अमेरिका में भी राम मंदिर भूमिपूजन की खुशी । न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर बिलबोर्ड पर भगवान श्री राम की तस्वीर वाला नजारा विहंगम रहा।

अयोध्या में कार्यक्रम की समाप्ति के साथ ही शाम को एक साथ डेढ़ लाख दीप जलाए गए। दीपों से राम की पैड़ी जगमग हुई। अयोध्या धाम के मंदिरों व अलग-अलग स्थानों पर दीपदान हुए। वहीं संघ प्रमुख मोहन भागवत ने शिलान्यास कार्यक्रम के बाद शाम को सदयू तट पर आरती की। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम के बाद शाम को लखनऊ में अपने आधिकारिक आवास पर पटाखे जलाए। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राम मंदिर निर्माण हेतु किए गए भूमि पूजन एवं कार्यारम्भ के पावन एवं ऐतिहासिक अवसर पर राजभवन में दीप प्रज्ज्वलित किया। राम मंदिर भूमिपूजन की खुशी में दिल्ली के झंडेवालान मंदिर में भी दीपोत्सव हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here