उत्तर प्रदेश के कानपुर में तीन जुलाई को मारे गए 8 पुलिसवालों का मुख्य हत्यारोपी विकास दुबे का साम्राज्य एक-एक कर ढहता जा रहा है। गुरुवार विकास दुबे के दो और करीबी साथी प्रभात मिश्रा व प्रवीण उर्फ बउवा दुबे गुरुवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में मारे गए। वहीं, पुलिस ने विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया है।

फरीदाबाद में गिरफ्तार हुए विकास दुबे के करीबी प्रभात को पुलिस कानपुर ला रही थी तभी बीच रास्ते में प्रभात ने पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की। पुलिस ने भी गोली चलाई तो प्रभात घायल हो गया, अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं, विकास का दूसरा साथी प्रवीण उर्फ बउवा इटावा में मारा गया। अबतक विकास दुबे के पांच करीबी साथी पुलिस मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं जबकि दो अन्य साथी दयाशंकर कल्लू और श्यामू वाजपेयी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस मुठभेड़ में मारे गए साथियों के नाम हैं- प्रेम प्रकाश (विकास दुबे का मामा), अतुल दुबे (विकास दुबे का भतीजा), अमर दुबे (विकास दुबे का राइड हैंड), प्रभात और प्रवीण उर्फ बउवा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here