कोरोना संकट के बीच एक बार फिर से राजधानी दिल्ली की मस्जिदों पर ताला लग सकता है ?

कोरोना संकट के बीच एक बार फिर से राजधानी दिल्ली की मस्जिदों पर ताला लग सकता है। कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। तो वहीं दूसरी तरफ मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है। इसी को देखते हुए दिल्ली की मस्जिदों में इमाम ने एक बैठक बुलाई।

जहां लोगों से पूछा गया कि क्या ऐसे संकट के वक्त में मस्जिदों को बंद रखा जा सकता है। जिसमें ज्यादातर लोगों ने कहा कि हां जब तक कोरोना संकट नहीं कम नहीं पड़ता है तब तक मस्जिद को बंद किया जा सकता है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली के कई मस्जिदों में इमाम ने बैठक की और इस बैठक में लोगों से प्रतिक्रिया ली गई कि क्या मस्जिदों को एक बार फिर से बंद किया जा सकता है।

जब तक कोरोना का खतरा कम नहीं हो जाता । इस दौरान कई लोगों ने इच्छा जताई कि जब तक कोरोना वायरस का संक्रमण कम नहीं हो जाता। तब तक मस्जिदों पर ताला लगा देना चाहिए। वहीं दूसरी तरफ शाही जामा मस्जिद के इमाम अहमद बुखारी ने हाल ही में कहा था कि लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए मस्जिदों को बंद कर देना चाहिए। बीती शाम को जामा मस्जिद के प्रो अमानुल्लाह की अस्पताल में कोरोना वायरस से मौत हो गई थी।

जानकारी के लिए बता दे कि दिल्ली सरकार ने अनलॉक के पहले चरण में दिल्ली के सभी धार्मिक स्थलों को खोल दिया है। लगातार राजधानी दिल्ली में हर दिन हजारों की संख्या में कोरोना वायरस के नए मामले सामने आ रहे हैं। इसको लेकर दिल्ली सरकार ने चेतावनी दी है कि जुलाई तक दिल्ली के अंदर 5,00,000 लोग कोरोना की चपेट में आ सकते हैं। इसी को देखते हुए कई मस्जिदों में इमाम ने बैठक बुलाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here