जय श्री राम। अच्छा लगा, श्री राम काल्पनिक नहीं हैं -सतीश पूनिया

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि भगवान राम का मंदिर देश में एकता और भाईचारे का प्रतीक बन सकता है।

श्री गहलोत ने अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए हुए शिलान्यास के अवसर पर आज सोशल मीडिया पर यह बात कही। उन्होंने कहा कि भगवान राम हमारी संस्कृति और सभ्यता में एक अद्वितीय स्थान रखते हैं। उनका जीवन हमें सच्चाई, न्याय, सभी की समानता, करुणा और भाईचारा सिखाता है। हमें एक समतामूलक समाज की स्थापना करने पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि भगवान राम का मंदिर हमारे देश में एकता और भाईचारे का प्रतीक बन सकता है। विधानसभा अध्यक्ष डा सी पी जोशी ने राममंदिर निर्माण के भूमिपूजन के पावन अवसर पर सभी देशवासियो को बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं दी। भारतीय जनता पार्टी की उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस मौके खुशी जताते हुए कहा ‘‘वन नगरी अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम विराजने वाले हैं।

आज के इस ऐतिहासिक, अद्वितीय, कल्याणकारी एवं शुभ दिन पर मैं अत्यंत भावुक एवं आंनदित हूं।’’ इस अवसर पर उन्होंने लोगों को शुभकामनाएं भी दी। नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के शिलान्यास पर सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई दी तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताते हुए कहा कि उनकी कोशिश एवं आर्शीवाद से यह शुभ दिन देखने का अवसर मिला।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने इस मौके खुशी जताई और कहा ‘‘जय श्री राम। अच्छा लगा, श्री राम काल्पनिक नहीं हैं, आप विश्व इतिहास की प्रमुख घटना के साक्षी बने,प्रभु श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण का दिव्य शुभारंभ हुआ है,भविष्य आमंत्रण दे रहा है विश्व पटल पर वन्देभारत की गूँज स्वाभिमान के साथ होगी।’’ इस मौके उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी देश एवं प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here