केंद्र सरकार कोविड-19 महामारी के प्रकोप से निपटने के अपने प्रयासों में राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों की मदद करता रहा है। केंद्र सरकार ने कोविड-19 के प्रसार को रोकने और इस बीमारी से निपटने के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली को जरूरी मदद दिया है।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद- (आईसीएमआर)ने अब तक दिल्ली में 12सक्रिय प्रयोगशालाओं को4.7 लाख आरटी-पीसीआर परीक्षण करने के लिए नैदानिक ​​सामग्री की आपूर्ति की है।इसने परीक्षण करने के लिए आवश्यक 1.57 लाख आरएनए निष्कर्षण किट एवं2.84 लाख वीटीएम (वायरल ट्रांसपोर्ट माध्यम) और कोविड -19 नमूनों का संग्रह करने के लिए स्वैब भी प्रदान किए हैं। मामलों के अचानक तेजी से बढ़ते देख आईसीएमआर ने एंटीगन-आधारित रैपिड परीक्षणों को मंजूरी दे दी है और कोविड-19 रोकथाम प्रयासों के तहत दिल्ली सरकार को 50,000 एंटीजन रैपिड टेस्ट किट की आपूर्ति की है। आईसीएमआर ने दिल्ली को ये सभी परीक्षण किट नि:शुल्क प्रदान किए हैं।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मातहतराष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी)नेतकनीकी मार्गदर्शन के जरिए कोविड-19 पर निगरानी रखने और प्रतिक्रिया कार्यनीति के सभी पहलुओं पर दिल्ली सरकार की कोशिशों में मदद की है। इसमें महामारी की शुरूआत मेंक्वारंटाइन सुविधाओं और कोविड देखभाल केंद्रों (सीसीसी) की पहचान और उनका मूल्यांकन,संक्रमण की रोकथाम तथा नियंत्रण सहित निगरानी, संक्रमित व्यक्ति से हुए ​​संपर्कों का पता लगानेतथा प्रयोगशाला पहलुओं पर आवश्यक प्रशिक्षण एवं तकनीकी सहायता और खामियों की पहचान करने तथा इसके लिए सुझाए गए समाधानों पर दिल्ली सरकार को आकंडों का सटीक विश्लेषण और समय पर प्रतिपुष्टि (फीडबैक) उपलब्ध कराना शामिल हैं। एनसीडीसी ने आरटी-पीसीआर द्वारा नमूनों के प्रसंस्करण के लिए प्रयोगशाला निदान सहायता भी प्रदान की है,जिसमेंदिल्ली सरकार के प्रयोगशाला कर्मचारियों को प्रशिक्षण देना भी शामिल है।

एनसीडीसी द्वारा की गई तकनीकी मदद में स्थिति के अनुरूप विश्लेषण के लिए विशेषज्ञों की कई केंद्रीय टीमों की तैनाती और उसके बाद तदनुरूप सिफारिशें, संशोधित दिल्ली कोविड प्रतिक्रियायोजना के कार्यान्वयन में जिला स्तर की टीमों को तकनीकी मदद उपलब्ध कराने और समन्वय के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों की तैनाती, और दिल्ली में कोविड- 19 पर सीरोलॉजिकल प्रबलता अध्ययन की योजना और निष्पादन शामिल हैं। एनसीडीसी की सक्रिय मदद सेसंशोधित दिल्ली कोविड प्रतिक्रिया योजना तैयार की गई है।

एनसीडीसी 27 जून,2020 से 10 जुलाई,2020 तक पूरी दिल्ली में सीरोलॉजिकल सर्वे भी करेगा। इसमेंशरीर में रोग-प्रतिकारक (एंटी-बॉडीज) की उपस्थिति का पता लगाने के लिए 20,000 व्यक्तियों के रक्त के नमूनों का परीक्षण किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here