महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ फिल्म और टीवी धारावाहिकों की शूटिंग की इजाजत दे दी है। सरकार ने शूटिंग शुरू करने के लिए कुछ नियम-शर्तें तय की हैं जिनका पालन करना होगा। सरकार के इस फैसले पर फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉयज (एफडब्लूआइसीई) के प्रेसिडेंट बीएन तिवारी, जनरल सेक्रेटरी अशोक दुबे, ट्रेजरार गंगेश्वरलाल श्रीवास्तव और चीफ एडवाइजर अशोक पंडित ने खुशी जताते हुए आभार जताया है।

तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने घोषणा की है कि कुछ नियम और शर्तों के साथ पोस्ट प्रोडक्शन और शूटिंग की जा सकती है। इसके लिए मैं फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉयज और इससे जुड़े 5 लाख वर्करों की तरफ से और प्रोड्यूसर बॉडी की तरफ से उनको बहुत बहुत धन्यवाद देना चाहूंगा। उन्होंने कहा है कि बहुत दिनों से काम बंद था। वर्कर परेशान थे। सेटिंग डिपार्टमेंट के अस्सी प्रतिशत वर्कर गांव जा चुके हैं। उन्होंने उम्मीद जताई की अब माहौल ठीक होगा और 20 जून से फिल्मों, धारावाहिकों, वेब सीरीज और एड फिल्मों की शूटिंग शुरू होगी।

गौरतलब हो कि महाराष्ट्र सरकार के निर्देशों के मुताबिक शूटिंग के वक्त सोशल डिस्टेंसिंग और स्वास्थ्य से संबंधित सभी दूसरे दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। शूटिंग के लिए निर्माता को गोरेगांव स्थित फिल्मसिटी में शूटिंग के लिए जिला कलेक्टर से अनुमति लेनी होगी। प्रोडक्शन यूनिट को स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रेसीजर का पालन करना होगा तथा हर सेट पर डॉक्टर, नर्स तथा एम्बुलेंस की व्यवस्था करनी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here